कृ धातु रूप सभी पाँचो लकारों में - Kri dhatu roop in all five lakars

कृ धातु को संस्कृत में हिंदी के ' करना (karna)' शब्द के लिए और अंग्रेजी में ' टू डू (to do) ' के लिए उपयोग में लाया जाता है।

कृ धातु के रूप सभी पाँचो लकारों में | Kri Dhatu Roop in all five lakars in Sanskrit

कृ धातु के सभी पाँचो लकारों में धातु रूप, तीनों पुरुषों एवं तीनों वचनों में कृ धातु धातु रूप नीचे दिये गये हैं:

1. कृ धातु रूप लट् लकार (वर्तमान काल)

2. कृ धातु रूप लङ् लकार (अनद्यतन भूतकाल)

3. कृ धातु रूप लृट् लकार (भविष्यत् काल)

4. कृ धातु रूप लोट् लकार (अनुज्ञा)

5. कृ धातु रूप विधिलिङ् लकार (चाहिए)


1. कृ धातु रूप लट् लकार (वर्तमान काल)


पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषकरोतिकुरुतः:कुर्वन्ति
मध्यम पुरुषकरोषिकुरुथःकुरुथ
उत्तम पुरुषकरोमिकुर्वःकुर्मः

2. कृ धातु रूप लङ् लकार (अनद्यतन भूतकाल)


पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषअकरोत्अकुरुताम्अकुर्वन्
मध्यम पुरुषअकरोःअकुरुतम्अकुरुत
उत्तम पुरुषअकरवम्अकुर्वअकुर्म

3. कृ धातु रूप लृट् लकार (भविष्यत् काल)


पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषकरिष्यतिकरिष्यतःकरिष्यन्ति
मध्यम पुरुषकरिष्यसिकरिष्यथःकरिष्यथ
उत्तम पुरुषकरिष्यामिकरिष्यावःकरिष्यामः

4. कृ धातु रूप लोट् लकार (अनुज्ञा)


पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषकुरुतात्/करोतुकुरुताम्कुर्वन्तु
मध्यम पुरुषकुरु/कुरुतात्कुरुतम्कुरुत
उत्तम पुरुषकरवाणिकरवावकरवाम

5. कृ धातु रूप विधिलिङ् लकार (चाहिए)


पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषकुर्यात्कुर्याताम्कुर्युः
मध्यम पुरुषकुर्याःकुर्यातम्कुर्यात
उत्तम पुरुषकुर्याम्कुर्यावकुर्याम

Post a Comment

0 Comments