पाठ्यक्रम की विशेषताएं - paathyakram ki visheshataien

पाठ्यक्रम की विशेषताएं - Characteristics of Curriculum

पाठ्यक्रम की निम्नलिखित विशेषताएं होती हैं:

1. पाठ्यक्रम समाज की संस्कृति का आधार एवं प्रतिबिंब होता है ( Curriculum is the basis and reflection of our culture ) तथा यह आवश्यकतानुसार समाज की संस्कृति के अंगो का हस्तांतरण ( transfer ) नई पीढ़ी को करता है|

2. पाठ्यक्रम निर्माण के तीन प्रमुख आधार हैं:

i. समाज की आवश्यकता व संस्कृति के महत्वपूर्ण तथ्य

ii. छात्रों की आवश्यकताएं एवं रूचि

iii. ज्ञान या विषय की प्रकृति

3. सामाजिक परिवर्तन के साथ पाठ्यक्रम में परिवर्तन अनिवार्य होता है| ( Curriculum need to be changed with the change in society. )

4. पाठ्यक्रम पूर्व - निर्धारित उद्देश्यों को साधन होता है अंतिम ना मानते हुए अनेक बार निर्मित तथा पुनः - निर्मित किया जा सकता है| ( Curriculum can't be permanent, it changes with time. )

अन्य सम्बंधित लेख:

1. पाठ्यक्रम की विशेषताएं - paathyakram ki visheshataien - Characteristics of Curriculum

2. पाठ्यक्रम के दोष - paathyakram ke dosh - Defects of Curriculum

3. विकास का अर्थ एवं परिभाषा क्या है - Vikas ka arth aur paribhasha kya hai - Meaning and Definition of Development

4. विकास की क्या विशेषताएं हैं - vikash ki visheshtaen kya hain - Characteristics of Development

5. वृद्धि की परिभाषा एवं अवधारणा क्या हैं - vridhi ki paribhasha aur avdharna kya hain - Concept and Definition of Growth

6. वृद्धि की क्या विशेषताएं हैं - vriddhi ki visheshtaen kya hain - Characteristics of Growth

7. पाठ्यक्रम का महत्व एवं उपयोगिता - paathyakram ka mahatva aur upayogita - Importance and Utility of Curriculum

Post a Comment

1 Comments

We appreciate your comment! You can either ask a question or review our blog. Thanks!!