पाठ्यक्रम का महत्व एवं उपयोगिता - paathyakram ka mahatva aur upayogita

Share:

पाठ्यक्रम का महत्व एवं उपयोगिता - Importance and Utility of Curriculum

पाठ्यक्रम शिक्षा के उद्देश्यों को प्राप्त करने का एक साधन है| इसके अतिरिक्त यह निम्न लिखित रूपों में भी उपयोगी है:

1. पाठ्यक्रम प्रचलित शिक्षा व्यवस्था तथा प्रणाली को सुव्यवस्थित करता है|

2. पाठ्यक्रम उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए निर्मित तथा विकसित किया जाता है| अतः उद्देश्यों की प्राप्ति में सहायक होता है|

3. पाठ्यक्रम की सहायता से हम प्रचलित दार्शनिक चिंतन का पता लगा सकते हैं क्योंकि प्रत्येक पाठ्यक्रम समाज के तत्कालीन दार्शनिक चिंतन की छाप होती है|

4. पाठ्यक्रम विभिन्न कक्षाओं की पाठ्य सामग्री के निर्माण तथा विकास में सहायक होता है|

5. पाठ्यक्रम पाठ्य - पुस्तकों के निर्माण में सहायक होता है|

6. सुनिश्चित पाठ्यक्रम शिक्षा के स्तर को बनाए रखने में सहायक होता है|

7. पाठ्यक्रम के आधार पर दो या अधिक शिक्षा प्रणालियों का तुलनात्मक अध्ययन करना संभव हो पाता है|

8. पाठ्यक्रम के विश्लेषण द्वारा शिक्षा के स्तर के उत्थान व पतन का ज्ञान होता है|

पाठ्यक्रम के आधार पर निर्मित पुस्तक और पाठ्य सामग्री को ध्यान में रखते हुए शिक्षण पद्धतियों व विधियों का चयन किया जाता है|

No comments

We appreciate your comment! You can either ask a question or review our blog. Thanks!!